जहांगीराबाद इंस्टिट्यूट की मेस पर फ़ूड डिपार्टमेंट का छापा

डोनेशन में मिलते है करोड़ों फिर भी शिक्षार्थियों को खिला रहे सड़ा भोजन

बगैर लाइसेंस के मेस संचालित कर रहा जे आई टी

54 लीटर जेलटा कोल्ड्रिंक एक्सपाइरी डेट की मिली

बाराबंकी । शुक्रवार दोपहर लगभग 2:45 पर जहांगीराबाद इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी के मेस पर खाद्य विभाग की टीम ने छापा मारा जहां मौके पर 54 लीटर जेलटा कोल्ड्रिंक एक्सपाइरी डेट की मिली जिसे टीम ने मौके पर नष्ट कर दिया साथ ही संदेह के आधार पर तीन नमूने भी लिए गए। इतना ही नही जब मेस के लाइसेंस की जानकारी की गई तो पता चला कि मेस का संचालन बगैर लाइसेंस के ही किया जा रहा है जिस पर अभिहित अधिकारी मनोज कुमार वर्मा ने बताया कि लाइसेंस बनवाने हेतु 10 दिन का समय दे दिया गया है।

यदि इस अवधि में लाइसेंस नही बनवाया जाता तो विधिक कार्यवाही की जाएगी तथा मेस को सीज कर दिया जाएगा।आई एम आर सी (इंडियन मुस्लिम रिलीफ चैरिटी) के द्वारा जहांगीराबाद इंस्टिट्यूट को लाखों रुपया वार्षिक चंदे के रूप में दिया जाता है साथ ही वहां अध्ययनरत शिक्षार्थियों एवं हॉस्टल में रह रहे बच्चों से अच्छी खासी फीस भी वसूली जाती है जिसके बाद भी भोजन के रूप में उन्हें बेधड़क जहर परोसा जा रहा है।मेस के अंदर सड़ा हुआ वा एक्सपाइरी डेट की खाद्य सामग्री बेखौफ परोसी जा रही है जबकि इससे फ़ूड पॉइज़निंग भी हो सकती है बावजूद इसके जे आई टी अपनी जेबें भरने में मशगूल है। सूत्रों की मानें तो टीम की छापेमारी के दौरान मेस में रखे समान की हेर फेर करने की कोशिश भी की गई परंतु मौके पर पहुच जाने से कई गड़बड़ियां खुलकर सामने आईं।

इस छापेमारी के विषय मे अभिहित अधिकारी मनोज वर्मा ने बताया कि खाद्य आयुक्त के आदेश के क्रम में छापेमारी की गई जो आगे भी जारी रहेगी।छापेमारी के दौरान टीम में मुख्य रूप से अभिहित अधिकारी मनोज वर्मा,मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी बी पी सिंह,खाद्य सुरक्षा अधिकारी शंकर दयाल तिवारी, खाद्य सुरक्षा अधिकारी अजय वर्मा,खाद्य सहायक पवन वर्मा वा महेंद्र उपस्थित थे।

बॉक्स

जे आई टी के द्वारा किये जा रहे विशेष क्रियाकलापों पर यदि नजर डाली जाए तो इनके बहुतेरे गड़बड़झाले सामने आते हैं।यह विद्यालय 13 वर्ष पहले शुरू किया गया था और बिना मान्यता के लगातार 11 वर्ष तक संचालित किया जाता रहा मात्र 2 वर्ष पूर्व ही इन्हें मान्यता प्राप्त हुई। इस प्रकार से विद्यालय प्रबंधन द्वारा बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ किया जाता रहा।

बॉक्स

कोर्स के नाम पर जे आई टी में एम बी ए, बी टेक,पी जी डी जे एम सी,आदि उपलब्ध है मगर इनकी फैकल्टी पूरी तरह से मानक विहीन है जो कि अवैध है।

बॉक्स

जे आई टी द्वारा एक तीन सितारा होटल की तर्ज पर साज सज्जा से युक्त एक गेस्ट हाउस भी बनवाया गया है जहां विदेशी मेहमानों को बुलाकर गरीब बच्चों को शिक्षित करने आदि के नामपर भारी भरकम अवैध चंदा भी वसूला जाता है।