मेला से लौट रही किषोरी के साथ दुराचार का आरोप

पिता ने चौकी इंचार्ज पर लगाया सुलह न करने पर धमकी देने का आरोप

फतेहपुर बाराबंकी । मेला देखकर लौट रही किशोरी के साथ 2 युवकों द्वारा जबरन दुराचार किये जाने का आरोप लगाते हुए पिता ने पुलिस चौकी इंचार्ज पर जबरन सुलह किये जाने का दबाव डाले जाने की शिकायत प्रदेश मुखिया से की है। प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है यदि पीड़ित पक्ष उनके पास आयेगा तो वह कार्यवाही करेगें।

मोहम्मदपुरखाला थाना क्षेत्र के ग्राम डीहा निवासी एक व्यक्ति ने मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजकर आरोप लगाया है कि उसकी लगभग 16 वर्षीय पुत्री 21 अक्टूबर 2017 को हेतमापुर मेला देखने गयी थी और अकेले घर लौट रही थी तभी हेतमापुर जंगल के पास गांव के ही निवासी धर्मवीर पुत्र दर्शन, हरीओम पुत्र दर्शन उसकी पुत्री को जबरन जंगल में खींच ले गये और बारी-बारी से उसके साथ दुराचार किया और 2 दिन तक जबरन बन्धक बनाये रखा। 23 अक्टूबर को उसकी पुत्री किसी तरह से उनके चंगुल से भाग निकली और घर आकर सारी घटना बतायी। घटना की शिकायत किशोरी के पिता ने लालपुर पुलिस चौकी पर दी परन्तु चौकी इंचार्ज शीतला प्रसाद मिश्र द्वारा कोई कार्यवाही न किये जाने पर वह थाने गये तो विपक्षियों से मिले हुए चौकी इंचार्ज ने दो सादे कागज पर जबरदस्ती हस्ताक्षर करा लिये और सुलह का दबाव बनाने लगे और सुलह न करने पर किसी हरिजन महिला को खड़ा करके बहनोई के विरूद्ध फर्जी बलात्कार का मुकदमा लगाकर जेल भेज देने की धमकी देने लगे। पीड़ित का यह भी कहना है कि चौकी इंचार्ज शीतला प्रसाद मिश्र उसके घर भी आये थे और मां-बहन की गाली देते हुए सुलह न करने पर परिणाम भुगतने की बात कह रहे थे।
पीड़ित ने मुख्यमंत्री सहित पुलिस अधिकारियों को जनसुनवाई पोर्टल की शिकायत सं0 40017617010812 के माध्यम से चौकी इंचार्ज के विरूद्ध उचित दण्डात्मक कार्यवाही किये जाने के साथ विपक्षीगणों के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत किये जाने की गुहार लगायी है। प्रभारी निरीक्षक जनमेजय सचान ने बताया कि पीड़ित पक्ष उनसे नहीं मिला है यदि शिकायत मिलती है तो कार्यवाही की जायेगी।

अभिनेता संजय दत्त बाराबंकी अदालत में पेश हों

बाराबंकी । साल 2009 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की एक रैली में बीएसपी सुप्रीमो मायावती के​ लिए विवादित टिप्पणी करने वाले अभिनेता संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। जिला अदालत ने उनके खिलाफ मामले में समन जारी किया है। इसकी तामील 16 नवंबर तक होनी है। साल 2009 में बाराबंकी में आयोजित एक जनसभा में फिल्म अभिनेता संजय दत्त ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती के लिए जादू की झप्पी देने वाली विवादित टिप्पणी की थी। मामले में तत्कालीन मसौली थानाध्यक्ष द्वारा टिकैतनगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। अब बाराबंकी एसीजेएम कोर्ट नंबर 25 ने समन 2 प्रतियों में जारी किया गया है। कोर्ट ने 16 नवंबर 2017 से पहले तामील और कोर्ट में पेश करने के मुम्बई कमिश्नर को कहा है।

दरअसल यह पूरा मामला 2009 के लोकसभा चुनाव के दौरान का है। जब 19 अप्रैल को दरियाबाद विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत टिकैतनगर कस्बे में समाजवादी पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में एक जनसभा का आयोजन किया गया था। इसमें समाजवादी पार्टी के तत्कालीन राष्ट्रीय महासचिव अमर सिंह व गोरखपुर से लोकसभा प्रत्याशी मनोज तिवारी के अलावा पार्टी के स्टार प्रचारक व फ़िल्म अभिनेता संजय दत्त भी आये हुए थे। इस जनसभा के दौरान संजय दत्त ने मंच से बसपा सुप्रीमो के लिए टिप्पणी की थी। इस भाषण की निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार वीडियो रिकार्डिंग करवाई जा रही थी। जिसके साक्ष्य के आधार पर 19 अप्रैल 2009 को थाना टिकैतनगर पर तत्कालीन थानाध्यक्ष विनय मिश्रा ने संजय दत्त के खिलाफ बसपा सुप्रीमो मायावती के लिए अभद्र व अशोभनीय टिप्पणी करने का मामला दर्ज कराया था। बाद में मामले में हाईकोर्ट ने स्टे आर्डर पास कर दिया था लेकिन बाद में हाईकोर्ट ने अपने स्टे आर्डर को वेकेट कर दिया था।

वर्तमान में इसी प्रकरण में बाराबंकी के एसीजेएम कोर्ट ने अभिनेता संजय दत्त के खिलाफ समन जारी करते हुए मुम्बई पुलिस कमिश्नर को 16 नवंबर 2017 से पहले इस को तामील करते हुए तामील रिपोर्ट देने के आदेश देते हुए पत्र प्रेषित किया है।

समाजसेवी प्रदीप सारंग को जन्म दिन मुबारक

बाराबंकी (हरी प्रसाद वर्मा) कला, साहित्य, समाजसेवा, पर्यावरण, परिन्दा संरक्षण जैसे सामाजिक सरोकार के विभन्न कार्यक्रमों के गलियारों में लगभग एक दशक से अहम किरदार निभाने वाले अनुज *प्रदीप सारंग* को उनके 48वें जन्म दिन पर कोटि कोटि बधाई।

भाई प्रदीप सारंग आज अपनी लगन, निष्ठा और किसी कार्य को बाखूबी अंजाम देने के लिए जाने-पहचाने जाते हैं । आँखें-इण्डिया मुहिम ने उनके किरदार में चार चाँद लगा दिए हैं। परिन्दा संरक्षण अभियान , पर्यावरण संरक्षण मुहिम , पुराने गर्म कपड़ों का संग्रह एवं जरूरत मन्दों में वस्त्र वितरण जैसे कार्यक्रमों को लेकर समाजसेवा के क्षेत्र में आज एक अलग मुकाम हासिल किया है । शिक्षा-स्नातक की उपाधि से विभूषित श्री सारंग की हिन्दी भाषा विज्ञान में विशेष अभिरुचि है, जिसके चलते साहित्य एवं लेखन के क्षेत्र में भी उनकी अपनी अलग पहचान है।

आजकल श्री सारंग अपने जनपद सहित कई अन्य जनपदों में जाकर महाविद्यालयों और इन्टर कालेजो में मोटिवेशनल कक्षाओं के माध्यम से छात्रों के बीच समय-प्रबंधन, पढ़ाई की वैज्ञानिक पद्धति, अधिक अंक पाने के तरीके, मनुष्य की आदतें उसके लक्ष्य में बाधक, आदि विषयों पर वार्ता कर युवाओं और छात्रों को प्रेरित करने का काम कर रहे है।वही जीरो लागत खेती को प्रोत्साहित करने को लेकर किसानों के बीच काफी सक्रिय है, मै आप मित्रों कीओर से ऊर्जावान,उत्साही , समाजसेवी साथी भाई प्रदीप सारंग जी को उनके 48वें जन्मदिन पर मुबारक देते हुए आशा करता हूँ कि श्री सारंग जी आप लोगों के आशीर्वाद से सामाजिक सरोकार के कार्यो को बखूबी अंजाम देने में सार्थक सिद्ध होंगे ऐसा मेरा विश्वास है।

शाहजहांपुर गैंगरेप-मर्डर: पुलिस के खुलासे पर सवाल, क्या सिर्फ एक शख्स कर सकता है इतनी दरिंदगी?

शाहजहाँपुर। यूपी के शाहजहाँपुर में बीते मंगलवार को नाबालिग की गैंगरेप के बाद हत्या मामले का खुलासा किया है लेकिन पुलिस के इस खुलासे पर बड़े सवालिया निशान खड़े हो गए हैं। इस मामले में पुलिस ने गांव के रहने वाले एक शराब बेचने वाले शख्स को गिरफ्तार कर खुलासा करके अपनी पीठ थपथपा ली है लेकिन जिस शख्स को गिरफ्तार किया है उसका कहना है कि जब लाश मिलने की खबर मृतक बच्ची के पिता को मिली उस वक्त वह उन्हीं के साथ में था। हमें बेगुनाह फंसाया गया है। पुलिस का खुलासा और डॉक्टरों की मेडिकल रिपोर्ट बिल्कुल अलग है क्योंकि उन्होंने बताया था कि बच्ची के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी हैं। उसके प्राइवेट पार्ट पर कई जख्म के निशान हैं। इस घटना को एक से ज्यादा लोगों ने अंजाम दिया है। ऐसे में इस खुलासे पर पुलिस पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है।

सवालों के घेरे में पुलिस का खुलासा दरअसल बीते मंगलवार को थाना रौजा क्षेत्र के एक ग्रामीण की 12 साल की बच्ची की खेत गैंगरेप के बाद उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। बच्ची के शरीर पर चोट के निशान के साथ साथ चेहरे पर दांत से काटने के भी निशान थे। बच्ची के गले मे रस्सी मिली थी जिससे लग रहा था कि बच्ची के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार की गई है। वहीं परिजनों ने भी आरोप लगाया था कि उसकी बेटी के साथ कई लोगों ने दुष्कर्म किया है। इस घटना के बाद से जनपद मे जनता मे काफी रोष था। साथ ही इस गंभीर घटना पर कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना भी नजर बनाए हुए थे। उन्होंने पुलिस के आलाधिकारियों से बात करके जल्द से जल्द खुलासा करने के निर्देश दिए थे। हलांकि पुलिस पर दबाव लगातार खुलासे के लिए बन रहा था। यही वजह है कि पुलिस ने खुलासा तो कर दिया लेकिन ये खुलासा सवालो के घेरे मे आ गया है।

खुलासे के लिए बनाई गई थी कई पुलिस टीमें दरअसल पुलिस ने इस मामले में और क्राइम ब्रांच समेत कई टीमों को लगा रखा था। पुलिस खुलासा करते हुए गांव के ही रहने वाले सुरेंद्र को गिरफ्तार किया है। एसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी का कहना है कि सुरेन्द्र नाम का शख्स अपराधिक छवि का है। पुलिस जांच मे पता चला कि इस घटना को अपराधी सुरेंद्र ने ही किया है। सुरेन्द्र गांव मे शराब बनाने का काम करता है। रौजा थाने मे उसके उपर 5 मुकदमे दर्ज है। सुरेन्द्र ने ही अकेले उसके साथ रेप किया और उसकी बेरहमी से हत्या की है।

पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों का कहना था वहीं जब तीन डॉक्टर के पैनल ने इस शव का पोस्टमॉर्टम किया था तब डॉक्टर ने दरिंदगी के बारे मे बताया था कि कितनी हदें इस बच्ची के साथ पार की गई थी। डॉक्टर ने बताया था कि बच्ची के पूरे शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। बच्ची के प्राईवेट पार्ट मे कई जख्म मिले थे। जख्म देखने से लग रहा था कि उसके साथ एक से ज्यादा लोगों ने उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। बच्ची के चेहरे पर दांत से काटने के निशान मिले और साथ ही बच्ची के होठ कटे हुए थे। बच्ची की गला घोट कर हत्या की गई थी।
आरोपी का कहना है, पुलिस ने फंसाया पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और पुलिस का खुलासा मेल नही खाता है क्योंकि पुलिस दावा कर रही है कि सुरेन्द्र ने अकेले इस घटना को अंजाम दिया है तो वहीं पोस्टमॉर्टम करने वाले डाक्टर बताते है कि बच्ची के साथ एक से ज्यादा लोगों ने दरिंदगी की है। ऐसे मे पुलिस ने खुलासा तो कर दिया है। लेकिन पकड़े गए आरोपी सुरेंद्र से बात की तो उसने खुद को बेकसूर बताया। उसका कहना है कि जिस दिन बच्ची की लाश मिलने की खबर आई थी उस वक्त वह बच्ची के पिता के साथ ही थे। उससे पहले वह खेत से अपने घर लौटा था। उसके बाद वह बच्ची के पिता के पास बैठकर पेपर पढ़ रहा था। उसका कहना है कि वह शराब जरूर बनाता है लेकिन ऐसी घिनौनी हरकत वह नहीं कर सकता है। उसका कहना है कि पुलिस ने उसको फंसाया है।

परिजनों ने भी कहा, एक से ज्यादा दरिंदे पकड़े गए आरोपी सुरेन्द्र के परिजनों का कहना है कि बच्ची की लाश देखने से लग रहा था कि उसके साथ काफी ज्यादा दरिंदगी की है। उसके प्राइवेट पार्ट मे गंभीर चोटें थीं। शरीर पर चोट थी चेहरे पर दांत से काटने के निशान थे। इस तरह की हत्या अकेला कोई शख्स नहीं कर सकता है। उनका कहना है कि ये वो नहीं कहते हैं कि सुरेंद्र इस घटना मे शामिल थे या नहीं लेकिन ऐसी दरिंदगी को कोई अकेला शख्स अंजाम नहीं दे सकता है। उनकी मांग है कि पुलिस किसी बेगुनाह को ना फंसाए, इस मामले में निर्दोष जेल न जाए।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने की लुधियाना में आरएसएस नेता के हत्या की निंदा


नई दिल्लीः कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को लुधियाना में आरएसएस के एक नेता की हत्या की निंदा की है। हत्या की निंदा करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि “हिंसा अस्वीकार्य है।” साथ ही राहुल गांधी ने मांग की कि दोषियों को सजा मिलनी चाहिए।
राहुल गांधी के आधिकारिय ट्विटक हैंडल से लिखा गया है, “मैं लुधियाना में आरएसएस नेता रविंदर गोसाई की हत्या की निंदा करता हूं और हिंसा को अस्वीकार्य है।”
आरएसएस नेता गोसाई को दो अज्ञात मोटरसाइकिल वालों ने मंगलवार को गोली मार दी थी। बताया जा रहा है गोसाई सुबह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखा से सुबह- सुबह दैनिक प्रशिक्षण से लौट रहे थे। मौके पर ही गोसाई की मौत हो गई और हमलावर फरार हो गये।
इस हमले के बाद तीन सदस्यीय विशेष जांच दल बनाया गया है। लुधियाना के पुलिस आयुक्त आर एन ढोके ने इस बात की जानकारी दी। पुलिस ने कहा है कि वो जांच में सुराग पाने के लिए इलाके में लगे कैमरों का सीसीटीवी फुटेज खंगाल रहे हैं। सीसीटीवी में मुंह ढके हुए दो संदिग्ध मोटरसाइकिल पर दिख रहे हैं।

गृह मंत्रालय की वेबसाइट हुई हैक

दिल्ली:PBCN:I मंत्रालय की वेबसाइट के हैक होने की खबर के तुरंत बाद ‘राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र’ ने उसे तत्काल ब्लाक कर दिया
कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीमें घटना की जाँच कर रही रही है, अधिकारी ने बताया
पिछले महीने एक संदिग्ध पाकिस्तानी गुट ने राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की आधिकारिक वेबसाइट को भी हैक कर लिया था और प्रधानमंत्री के विरोध में गालियो से भरे सन्देश और भारत विरोधी सामग्री वेबसाइट पर डाल दी थी ।

सरकारी आंकड़ो के अनुसार पिछले 4 सालो में 700 से अधिक केंद्र और राज सरकार की वेबसाइटो को हैक किया गया है जिसमे कुल 8348 लोगो को साइबर अपराधों में पकड़ा गया है ।

नहीं रहे आज़ाद हिन्द फौज के कर्नल निज़ामुद्दीन,आजादी के लिए बर्मा में दिया था सुभाष चंद्र बोस का साथ

लखनऊ:PBCN: आजमगढ़ के मुबारकपुर में रहने वाले कर्नल निजामुद्दीन उर्फ सैफुद्दीन का लम्बे समय तक बीमार रहने के बाद आज सुबह चार बजे निधन हो गया.
आज़ाद हिंद फौज के कर्नल और नेता सुभाष चंद्र बोस के बेहद करीबी 117 साल के कर्नल निजामुद्दीन सुभाष चंद्र बोस के ड्राइवर थे और नेता जी के साथ बर्मा में 1943 से 1945 तक साथ रहे.

निज़ामुद्दीन के छोटे बेटे अकरम ने कहा कि सुबह 4 बजे उनका निधन हुआ. दोपहर करीब 2 बजे उन्‍हें सुपुर्दे-ए-खाक किया जाएगा.

निज़ामुद्दीन के बेटे अकरम ने कहा कि उन्होंने अपने पिता को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की मान्यता दिलवाने का काफी प्रयास किया, लेकिन न तो राज्य सरकार और न ही केंद्र सरकार ने कोई सुनवाई की. डीएम ने उन्हें आश्वासन दिया था कि वह सरकार से कर्नल की पेंशन के लिए बात करेंगे.

ایپل انڈیا میں آئی فون تیار کرے گا

انڈین ریاست کرناٹک کی حکومت کا کہنا ہے کہ ٹیکنالوجی کمپنی ایپل ریاست میں آئی فون بنانا شروع کرنے والی ہے۔

وزرا کا کہنا ہے کہ ایپل کرناٹک میں فون بنانے کا ابتدائی کام اپریل میں شروع کرے گی۔ خیال رہے کہ کرناٹک کا ریاستی دارالحکومت بنگلور آئی ٹی کا گڑھ سمجھا جاتا ہے۔

انڈیا کی موبائل مارکیٹ میں ایپل کا حصہ محض دو فیصد ہے اور وہ اپنے کورین حریف سام سنگ سے خاصا پیچھے ہے۔

ایپل کی جانب سے تاحال اس منصوبے کی باضابطہ تصدیق نہیں ہوئی اور ان کا کہنا ہے کہ وہ انڈیا میں ‘واضح سرمایہ’ میں دلچسپی رکھتے ہیں۔

تاہم کرناٹک کے انفارمیشن ٹیکنالوجی اور بائیو ٹیکنالوجی کے وزیر پریانک کھرج نے خبررساں ادارے اے ایف پی کو بتایا ہے کہ ‘ہماری ایپل کے ساتھ بات چیت جاری ہے اور ہم توقع کرتے ہیں کہ اپریل کے آخر تک کرناٹک میں فون کی تیاری شروع ہو جائے گی۔’

اطلاعات کے مطابق اس حوالے سے ایک پلانٹ تائیوان کی ایک تعمیراتی کمپنی وسٹرون کارپوریشن تعمیر کر رہی ہے۔

فروخت میں کم شرح کے باوجود مہنگے فونوں کی تقریباً نصف مارکیٹ پر ایپل حاوی ہے جس کے ایک فون کی قیمت 450 امریکی ڈالر سے شروع ہوتی ہے اور اس کی فروخت میں اضافہ ہو رہا ہے۔

حالیہ منصوبے کو عملی جامہ پہنانے سے قبل ایپل نے حکومتی اور ریاستی حکومت کے نمائندگان سے کئی ملاقاتیں کی تھیں۔

خیال رہے کہ ایپل کا سب سے بڑا پارٹنر تائیوان کی کمپنی فوکسکون ہے جو چین میں ایپل کی سب سے بڑی آئی فون کی فیکٹری چلاتی ہے۔

گذشتہ ہفتے جاری ہونے والے اعدادوشمار کے مطابق ایپل کو آئی فون سیون کی فروخت کے بعد اپنی پہلی سہ ماہی میں اب تک کا سب سے زیادہ منافع ہوا ہے۔

آئی فون 7 کی ریلیز کے بعد سے ایپل کی کل فروخت سات کروڑ 84 لاکھ ڈالر ہے جو گذشتہ برس اسی دورانیے کی فروخت سے تین فیصد زیادہ ہے۔

SC ने गुर्जरों के एसबीसी आरक्षण पर लगाई रोक

दिल्ली :PBCN:SC ने गुर्जरों को अलग से विशेष पिछड़ा वर्ग (एसबीसी) के तहत मिल रहे 5 प्रतिशत आरक्षण के लाभ को फिलहाल रोक दिया है, लेकिन बड़ी राहत देते हुए पूर्व में हुई और चल रही भर्तियों में मिले लाभ को यथावत रखा है।

उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में राजस्थान सरकार की अर्जी को स्वीकार कर लिया है, जिससे राजस्थान सरकार को राहत मिली है। उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि जब तक इस मामले की सुनवाई चलेगी, तब नई भर्तियों में एसबीसी आरक्षण के लाभ पर रोक रहेगी।\

राजस्थान उच्च न्यायालय ने एसबीसी में पांच फीसदी आरक्षण देने वाले अधिनियम-2015 और राजस्थान सरकार द्वारा इसके लिए जारी की गई अधिसूचना को रद्द कर दिया था। इस कारण 4000 भर्तियां प्रभावित हो रही

वरिष्ठ सांसद एवम् नेता के निधन के बाद बजट पेश करना अमानवीय होगा: मल्लिका अर्जुन खड़गे

दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री  ई अहमद के निधन के बाद कांग्रेस नेता मल्लिका अर्जुन खड़गे ने बजट को 1 दिन के लिए टालने की मांग की है। खड़गे ने कहा कि एक वरिष्ठ नेता का निधन हुआ है। अब बजट पेश करना अमानवीय होगा। बता दें कि बुधवार को आज आम बजट के साथ रेल बजट पेश होना है,

खड़गे ने कहा है कि सरकार अगर 1 दिन के लिए बजट को टाल देती है तो उसका कोई नुकसान नहीं होगा। उसके समर्थन में जदयू और पूर्व प्रधानमंत्री देवगौड़ा भी हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि ई अहमद के निधन की सूचना सरकार को पहले से ही थी, लेकिन इसकी घोषणा देरी से की गई।

बता दें कि आज रात सांसद ई अहमद का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। रात करीब सवा दो बजे उन्होंने दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में अंतिम सांस ली। संसदीय परंपरा के अनुसार किसी भी सांसद के निधन पर सदन की कार्यवाही को एक दिन के लिए स्थगित कर दिया जाता है, लेकिन बजट के महत्व को देखते हुए सरकार ने बजट पेश करने का फैसला किया है।