गृह मंत्रालय की वेबसाइट हुई हैक

दिल्ली:PBCN:I मंत्रालय की वेबसाइट के हैक होने की खबर के तुरंत बाद ‘राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र’ ने उसे तत्काल ब्लाक कर दिया
कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीमें घटना की जाँच कर रही रही है, अधिकारी ने बताया
पिछले महीने एक संदिग्ध पाकिस्तानी गुट ने राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की आधिकारिक वेबसाइट को भी हैक कर लिया था और प्रधानमंत्री के विरोध में गालियो से भरे सन्देश और भारत विरोधी सामग्री वेबसाइट पर डाल दी थी ।

सरकारी आंकड़ो के अनुसार पिछले 4 सालो में 700 से अधिक केंद्र और राज सरकार की वेबसाइटो को हैक किया गया है जिसमे कुल 8348 लोगो को साइबर अपराधों में पकड़ा गया है ।

Ties frosty, but India’s cultural body sponsors Karachi Literature Festival

NEW DELHI: the organisations promoting Pakistan’s ongoing showpiece Karachi Literature Festival (KLF), there’s one which might be of particular interest to Indians. It’s the Indian Council for Cultural Relations (ICCR).
Some will see a conflicting signal in this, given all the talk here about isolating Pakistan, but the government’s flagship cultural body, which promotes India’s relations with the external world by executing the foreign ministry’s projects abroad, is one of the sponsors of the event.
While some may see India’s involvement with KLF as coming against the run of play, the government seems to be finally veering round to the view that holding aloof completely from a troublesome neighbour may prove to be of little help

Dalhousie Road becomes Dara Shikoh Road

New Delhi:PBCN: The New Delhi Municipal Council on Monday passed a proposal to change the name of Dalhousie Road to Dara Shikoh Road, after the eldest son of Mughal emperor Shah Jahan.

New Delhi MP and NDMC member Meenakshi Lekhi said the Council had first come up with the proposal in 2014, when it considered changing the name of Aurangzeb Road to Dara Shikh Road.

“However, former President A.P.J. Abdul Kalam passed away then. So we decided to change Aurangzeb Road’s name to honour him,” said Ms. Lekhi.

She added that the Council decided to honour Dara Shikoh Road for “bringing Hindus and Muslims together”. She said the Council picked Dalhousie Road as Lord Dalhousie, the Governor-General of India in the mid 19th Century, had annexed the Awadh. As per rules of the Centre, only names given to public facilities before the Independence can be changed. Therefore, the colonial-era Dalhousie Road could be renamed.

This is the third time that the NDMC has renamed a road in less than two years. In August 2015, Aurangzeb Road became Dr. A.P.J. Abdul Kalam Road. Then, in September 2016, Race Course Road, where the Prime Minister’s residence is located, was renamed Lok Kalyan Marg.

SC ने गुर्जरों के एसबीसी आरक्षण पर लगाई रोक

दिल्ली :PBCN:SC ने गुर्जरों को अलग से विशेष पिछड़ा वर्ग (एसबीसी) के तहत मिल रहे 5 प्रतिशत आरक्षण के लाभ को फिलहाल रोक दिया है, लेकिन बड़ी राहत देते हुए पूर्व में हुई और चल रही भर्तियों में मिले लाभ को यथावत रखा है।

उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में राजस्थान सरकार की अर्जी को स्वीकार कर लिया है, जिससे राजस्थान सरकार को राहत मिली है। उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि जब तक इस मामले की सुनवाई चलेगी, तब नई भर्तियों में एसबीसी आरक्षण के लाभ पर रोक रहेगी।\

राजस्थान उच्च न्यायालय ने एसबीसी में पांच फीसदी आरक्षण देने वाले अधिनियम-2015 और राजस्थान सरकार द्वारा इसके लिए जारी की गई अधिसूचना को रद्द कर दिया था। इस कारण 4000 भर्तियां प्रभावित हो रही

उप मुख्यमंत्री दिल्ली पे सीबीआई का शिकंजा कसा, FIR दर्ज

दिल्ली :सीबीआई ने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और राज्य सरकार के कुछ अन्य अनाम अधिकारियों के खिलाफ बुधवार को एक प्राथमिकी दर्ज की। इसके तहत सीबीआई ‘टाक टू एके’ अभियान में अनियमितता की जांच करेगी।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के एक अधिकारी ने कहा कि हमने सिसोदिया और अन्य अनाम सरकारी अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है, क्योंकि टाक टू एके मीडिया अभियान से संबंधित कार्य के आवंटन में निर्धारित नियमों-कानूनों के उल्लंघन के आरोप हैं।

इस अभियान के तहत आम जनता के पास सोशल मीडिया के जरिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से बातचीत करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी।

सीबीआई जांच शुरू होते ही ट्विटर पर केजरीवाल सरकार पर भड़क उठे। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए सीबीआई जांच पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

AAP In News‏ @AAPInNews

पेश हुए RBI गवर्नर, कड़े सवालों पर साधी चुप्पी

आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल बुधवार को वित्त मामलों की  स्थाई कमेटी के सामने पेश हुए। इस दौरान स्थाई समिति ने उनसे कई सवाल किए लेकिन कई अहम सवालों के जवाब आरबीआई गवर्नर ने नहीं दिए। उर्जित पटेल ने स्थाई समिति को बताया कि नोटबंदी के बाद से 9.2 लाख करोड़ रुपये के नए नोट बाजार में आए हैं।

आठ नवंबर को नोटबंदी के बाद अनुमान था कि 15 लाख 44 हजार के पुराने नोट बैंकों में जमा होंगे। स्थाई समिति ने जब इस मामले में आरबीआई गवर्नर से पूछा कि कितने के पुराने नोट बैंकों में जमा हुए है तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया