गोवा में रिकॉर्ड 83 और पंजाब में 75 फीसदी मतदान

PBCN:गोवा और पंजाब में शनिवार को विधानसभा के लिए मतदान शांतिपूर्ण रहा। गोवा में रिकॉर्ड 83 प्रतिशत मत पड़े, जबकि पंजाब में मतदान का प्रतिशत 75 रहा। पंजाब के फतेहपुर चूरियन विधानसभा सीट पर शिरोमणि अकाली दल (शिअद) और कांग्रेस समर्थकों के बीच हुए झगड़े में छह लोग घायल हो गए। जालंधर में एक 35 वर्षीय व्यक्ति की मौत दिल का दौरा पड़ने के कारण हो गई। इसी तरह गोवा में एक 78 वर्षीय व्यक्ति की मौत पणजी के एक पोलिंग बूथ के बाहर हो गई।

पारंपरिक प्रतिद्वंद्वी पार्टियों- भाजपा और कांग्रेस दोनों राज्यों में चुनावी मुकाबले में हैं जिसमें अरविंद केजरीवाल नीत ‘आप’ पहली बार उतरी है। आप दिल्ली के बाहर पहली बार विधानसभा चुनाव में उतरी है।

भाजपा गोवा में सरकार में है। गोवा में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा की सहयोगी महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) गठबंधन से हट गई थी। यहां मुख्य रूप से मुकाबला भाजपा, कांग्रेस, आप और शिवसेना-एमजीपी गठबंधन के बीच है। राज्य में रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर, केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाईक और मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत परसेकर ने शुरुआत में ही मतदान किया। यह चुनाव गोवा के पांच पूर्व मुख्यमंत्रियों- चर्चिल एलेमाओ, प्रतापसिंह राणे, रवि नाईक, दिगंबर कामत और लुइजिन्हो फलेरियो एवं मौजूदा मुख्यमंत्री परसेकर के भाग्य का फैसला करेगा। भाजपा ने 36 उम्मीदवार खड़े किए हैं, जबकि कांग्रेस ने 37 और आप ने 39 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। राज्य में सभी सीटों पर मतदाता सत्यापन पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) मशीनों का उपयोग किया गया।

पंजाब में शिअद-भाजपा गठबंधन गत एक दशक से सत्ता में है। आज के मतदान से कई राजनीतिक दिग्गजों के भाग्य का फैसला होगा जिसमें राज्य के 89 वर्षीय मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी एवं कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार कैप्टन अमरिंदर सिंह, बादल के पुत्र एवं उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल शामिल हैं।

पंजाब के उपचुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना ने कहा कि 22167 ईवीएम मशीनें लगाई गईं जिसमें केवल 47 ने काम नहीं किया जिसे बदल दिया गया। उन्होंने कहा कि नाकामी की दर 0.2 प्रतिशत रही जो एक से तीन प्रतिशत के स्वीकार्य आंकड़े के अंतर्गत आता है। सक्सेना ने कहा कि करीब 66 हजार मतदाता सत्यापन पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) मशीनों में से 187 ने काम नहीं किया जिसकी खराबी की दर 2.8 प्रतिशत रही।

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, केन्द्रीय मंत्री श्रीपद नाईक और मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत परसेकर ने शुरुआत में ही मतदान किया। इस चुनाव में कुल 250 उम्मीदवार खड़े हैं जिसमें कई निर्दलीय उम्मीदवार भी शामिल हैं। यह चुनाव गोवा के पांच पूर्व मुख्यमंत्रियों- चर्चिल एलेमाओ, प्रतापसिंह राणे, रवि नाईक, दिगंबर कामत और लुइजिन्हो फलेरियो एवं मौजूदा मुख्यमंत्री परसेकर के भाग्य का फैसला करेगा। भाजपा ने 36 उम्मीदवार खड़े किए हैं, जबकि कांग्रेस ने 37 और आप ने 39 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

वर्ष 2012 में चुनाव पूर्व गठबंधन करने वाली भाजपा इस बार अकेले चुनाव लड़ रही है क्योंकि उसकी सहयोगी रही एमजीपी ने आरएसएस के बागी नेता सुभाष वेलिंगकर द्वारा स्थापित गोवा सुरक्षा मंच और शिवसेना के साथ एक मोर्चा बना लिया है। इन चुनावों में डाले गए मतों की गणना 11 मार्च को होगी